Blog Post Image

अलविदा अम्मा : चेन्नई के मरीना बीच पर 4:30 बजे पंचतत्व में विलीन होंगी जयललिता by roorkeeweb

चेन्नई. जयललिता का मंगलवार शाम 4:30 बजे मरीना बीच पर MGR मेमोरियल के पास अंतिम संस्कार किया जाएगा। MGR से जयललिता की काफी नजदीकियां रही थीं। फिल्मों से लेकर पॉलिटिक्स तक दोनों का साथ रहा। MGR ही उन्हें पॉलिटिक्स में लाए थे। अम्मा को श्रद्धांजलि देने के लिए प्रणब मुखर्जी, नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी भी चेन्नई पहुंचेंगे। जयललिता की मौत के बाद तमिलनाडु में सरकार के सामने टेन्योर पूरा करने की चुनौती खड़ी हाे सकती है। बता दें कि सोमवार रात 11.30 बजे 68 साल की जयललिता का निधन हो गया था। वो 76 दिन से हॉस्पिटल में भर्ती थीं। * जयललिता के अंतिम दर्शन के लिए रजनीकांत दामाद धनुष के साथ पहुंचे। * प्रणब मुखर्जी ने कहा- जयललिता एक जुझारू नेता थीं। डेवलमेंट के मुद्दों पर उनसे कई बार बातचीत हुई। जब वे राज्यसभा सदस्य बनीं मैं सदन का नेता था। फैक्ट्स और थेयोरी पर उनकी काफी पकड़ थी। * जयललिता को राज्यसभा-लोकसभा में दी जाएगी श्रद्धांजलि। उसके बाद दिनभर के लिए सदन स्थगित करने की अपील। * जयललिता को श्रद्धांजलि देने प्रणब मुखर्जी भी जाएंगे चेन्नई। * मोदी चेन्नई के लिए रवाना। जयललिता को देंगे श्रद्धांजलि। * चेन्नई में दुकानें, बाजार बंद। कई प्राइवेट कंपनियों ने भी छुट्टी का एलान किया। * तमिलनाडु में 7 दिन का शोक रहेगा। राज्य में तीन दिन स्कूल कॉलेज बंद रहेंगे। साथ ही उत्तराखंड, कर्नाटक और बिहार जैसे राज्यों ने भी जयललिता के सम्मान में एक दिन के शोक का एलान किया है। * केंद्र सरकार की ओर से केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू और पोन राधाकृष्णन जयललिता के अंतिम संस्कार में शामिल होंगे। * तमिलनाडु सरकार ने जयललिता की याद में हर साल 6 दिसंबर को छुट्टी रखने का एलान किया। * केंद्र सरकार ने एक दिन के राष्ट्रीय शोक का एलान किया। * राहुल गांधी भी जाएंगे चेन्नई। * नरेंद्र मोदी जयललिता को श्रद्धांजलि देने 9:30 बजे चेन्नई जाएंगे। * मंगलवार शाम 4:30 बजे चेन्नई में होगा अंतिम संस्कार। - जयललिता परंपरावादी अयंगर ब्राह्मण परिवार से थीं। ज्योतिष में उनका काफी विश्वास था। 5 और 7 अंक को वे अपने लिए शुभ मानती थीं - संयोग ही है कि उनकी मौत 5 तारीख को हुई। डॉक्टरों के मुताबिक उन्होंने अंतिम सांस 5 दिसंबर रात 11:30 पर ली। आधा घंटा और बीतता तो 6 तारीख लग जाती। - जयललिता की पॉपुलरिटी को देखते हुए उन्हें बुधवार तक अंतिम दर्शन के लिए रखा जाना था। उनका अंतिम संस्कार 7 तारीख को होता। - लेकिन, ज्योतिष के मुताबिक बुधवार को अष्टमी तिथि है। जयललिता अष्टमी को कोई शुभ काम नहीं करती थीं। फिर, अंतिम यात्रा अष्टमी को कैसे हो सकती थी। - अंतिम संस्कार का वक्त भी ज्योतिष के मुताबिक तय हुआ। तमिल पंचांग के मुताबिक, मंगलवार शाम 3:30 से 4:30 बजे तक राहू काल है। - जयललिता राहू काल में भी कोई काम नहीं करती थीं। इसलिए उनका अंतिम संस्कार 4:30 बजे किया जाना तय हुआ। - जयललिता का पार्थिव शरीर पहले पोएस गार्डन में उनके रेसिडेंस ले जाया गया। इसके बाद सुबह अंतिम दर्शन के लिए राजाजी हॉल ले जाया गया। - जब AIADMK के फाउंडर एमजीआर का निधन हुआ था, तब भी उनका पार्थिव शरीर इसी हॉल में रखा गया था।


Blog Search

Blog Categories

Latest Post


Submit your News, Blog or Interest


You are welcome to submit your news, blog or interest at RoorkeeWeb.com Just send your name and news at our whatsapp no. 8126505665. It will be published with your name.